Friday, October 1, 2010

"नमन"

*************
" कहने को कुछ आज नहीं, बस नमन राष्ट्र का हो स्वीकार
आपके सपने बने रहें इस भव्य - भवन का चिर आधार
इक छोटा सा संकल्प उठाते, लाल हिंद के आज सभी
साथ रहेंगे, साथ बढ़ेंगे, ख़्वाबों को करने साकार॥"
**************

9 comments:

  1. नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि

    ReplyDelete
  2. हमारा भी बापू जी को शत शत नमन।

    ReplyDelete
  3. बापू और शास्त्री जी को नमन

    ReplyDelete
  4. भैया सदर प्रणाम, आपको भी गाँधी एवं शाश्त्री जयंती की बधाई एवं महापुरुषों को शत शत नमन

    ReplyDelete
  5. वाह .. बहुत बढिया !!

    ReplyDelete
  6. bhaiiya ji...
    baot he sundar ......!!!!

    ReplyDelete

मेरी हौसला-अफजाई करने का बहुत शुक्रिया.... आपकी बेशकीमती रायें मुझे मेरी कमजोरियों से वाकिफ करा, मुझे उनसे दूर ले जाने का जरिया बने, इन्हीं तमन्नाओं के साथ..... आपका हबीब.

"अपनी भाषा, हिंदी भाषा" (हिंदी में लिखें)

एक नज़र इधर भी...